लोन क्या होता है? लोन के बारे में जानकारी !

हैलो दोस्तों हमारे वेबसाइट पर आपका बहुत-बहुत स्वागत है आज के इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको एक नई जानकारी देने वाला हूँ इस पोस्ट में मैं आपको लोन क्या होता है? हो है? लोन के बारे में जानकारी देने वाला हूं। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि लोन क्या है और लोन कैसे लें। तो आप हमारे इस पोस्ट को जरुर पढ़ें और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Loan जिसे हम हिन्दी में ऋण या उधार कहते हैं। किसी व्यक्ति या किसी संस्था द्वारा दिए गए उधार का एक रूप होता है। उधार देने वाली व संस्था सरकारी या फिर प्राइवेट हो सकती है जो इंडिविजुअल उधारकर्ता व्यक्ति को लोन प्रदान करती है।

दोस्तों आप सभी से गुजारिश है कि आप सभी इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें मैंने इस आर्टिकल में लोन के बारे में पूरी जानकारी दी है आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ लेंगे तब आपको लोन के बारे में सारी जानकारियाँ प्राप्त हो जाएंगे।

Loan क्या है – लोन का परिचय

जब कोई व्यक्ति या कोई कंपनी अपने किसी काम को पूरा करने के लिए बैंक से उधार लेता है और उस उधार लिए हुए पैसे को कुछ इंटरेस्ट के साथ बैंक को चुकाना पड़ता है तो इसको हम loan कहते हैं। लोन लेने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं और loan भी उस कारण के अनुसार ही दिया जाता है।

जैसे आप पढ़ाई के लिए लोन लेते हैं तो आपको एजुकेशन लोन दिया जाता है साथ ही अगर आप घर बनाने के लिए लोन लेते हैं तो उसके लिए आपको होम लोन दिया जाता है।

loan हमारे जीवन को आसान बनाता है क्योंकि हमारे पास इतने पैसे नहीं होते हैं कि हम किसी काम को एक बार में पूरा कर सकें।

loan का डायरेक्ट सम्बंध बैंक से होता है ऐसा इसलिए क्योंकि बैंक ही वह संस्था है जो आपको आसानी से लोन प्रदान कर सकती है वह भी safe और secure तरीके से। यदि आपने कभी लोन लिया होगा तो आपको लोन के महत्त्व के बारे में जानकारी होगी अगर आपने कभी लोन नहीं ली होगी तब आपको लोन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होगी।

जब किसी कारणवश पैसे की बहुत जरूरत होती है जैसे कि बच्चों की पढ़ाई लिखाई, किसी रोग के इलाज के लिए, बेटी के शादी में, घर खरीदने वा बनवाने में, बाइक मोबाइल का आदि खरीदने में तब ऐसे कार्यों को पूरा करने के लिए लोन ही एकमात्र सहारा बचता है जिसकी मदद से इन कार्यों को पूरा किया जा सके क्योंकि इतनी ज्यादा पैसे किसी के पास होना मुश्किल होता है वही दोस्तों और रिश्तेदारों से इतनी बड़ी रकम को मांगा भी नहीं जा सकता इसलिए अब बस एक मात्र सहारा बैंक से लोन लेने का ही बचता है।

loan जरूरत के समय एक मसीहा का काम करता है साथ ही आपको लोन अमाउंट के साथ अच्छा खासा इंटरेस्ट भी देना पड़ता है।

Loan की परिभाषा

जब कोई व्यक्ति या कंपनी अपने किसी कार्य के लिए बैंक से उधार लेता है और उस उधार लिए हुए पैसे को किसी तय समय के अनुसार कुछ इंटरेस्ट के साथ चुकता है तो उसे loan कहा जाता है।

बैंक लोन लेने वाले व्यक्ति कंपनी एवं अन्य के साथ एक समझौता करता है जिसमें loan में दिए गए पैसों पर कितना पर्सेंट प्रतिवर्ष इंटरेस्ट लगेगा लोन के पैसे कब तक चुकाने पड़ेंगे आदि बातों पर बैंक एक रीक्यूपमेंट तैयार करता है।

बैंक लोन देने से पहले इस बात की पूरी जानकारी प्राप्त कर लेता है कि जिसे वालों लोन दे रहा है क्या वह उस लोन के पैसे को तय समय पर दे पाएगा या नहीं?

बैंक लोन लेने वाले के सारे डॉक्यूमेंट की जानकारी ले लेता है साथ ही उसके बैंक बैलेंस, दुकान – मकान सभी प्रॉपर्टी का पूरा डाटा रख लेता है। एक बात मैं यहाँ पर बताना चाहूंगा कि अगर किसी कारणवश उधारकर्ता लोन की रकम तय समय सीमा के अंदर जमा नहीं कर पाता है तो बैंक उसकी प्रॉपर्टी को जप्त कर लेती है।

किसी ने घर खरीदा और कुछ महीने पैसे देने के बाद वह आगे बैंक को पैसे नहीं दे पा रहा हो तो बैंक उसके घर को जप्त कर लेती है और अपने पैसे को वसूल कर लेती है।

Loan के अंग क्या हैं?

Loan के सामान्यता तीन कंपोनेंट्स होते हैं।

  • प्रिंसिपल अमाउंट-लोन में लिया गया पैसा
  • रेट ऑफ इंटरेस्ट-ब्याज की दर
  • लोन ड्यूरेशन-लोन की अवधि

लोन लेने वाला जब किसी बैंक, कोई व्यक्ति या फिर अन्य फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन से जो भी पैसा उधार में लेता है उसे प्रिंसिपल अमाउंट या लोन अमाउंट कहते हैं। यह वह पैसे होते हैं जिन्हें तय समय के अंतराल में लौटना होता है। साथ ही उस पैसे पर कुछ इंटरेस्ट भी देना होता है।

ब्याज का दर (रेट ऑफ इंटरेस्ट)वह अमाउंट होता है जो आपके लिए हुए प्रिंसिपल अमाउंट में लगता है। ब्याज दर हर बैंक या फिर अन्य फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन के अलग-अलग होते हैं कोई कम ब्याज लेता है तो कोई ज्यादा। जो भी इंटरेस्ट आपके लोन अमाउंट पर लगते हैं उसे पैसे वापस करने के समय साथ में ऐड करके देना होता है।

लोन की अवधि (loan ड्यूरेशन) जब आप किसी से लोन लेते हैं तो वह आपको loan वापस करने की एक समय देता है यह समय सीमा कुछ भी हो सकती है 3 महीने, 6 महीने, 1 साल, 5 साल आदि इस समय सीमा को ही लोन ड्यूरेशन लोन अवधि कहा जाता है।

लोन के प्रकार

loan ke prakar
लोन के प्रकार

जब आप अपने बैंक में जाकर लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो बैंक वाले आपसे यह पूछते हैं कि सर आपको किस तरह का लोन चाहिए। आपकी जरूरत के अनुसार ही लोन दिया जाता है। तो चलिए loan के प्रकार के बारे में जानते हैं।

  1. Personal Loan
  2. Home Loan
  3. Education Loan
  4. Car Loan
  5. Credit Card Loan
  6. Business Loan
  7. Gold Loan
  8. Property Loan
  9. Personal Loan

Personal Loan

पर्सनल लोन उस loan को कहते हैं जिसमें बैंक किसी व्यक्ति को उसके निजी कार्यों को पूरा करने के लिए लोन देता है। पर्सनल लोन एक व्यक्तिगत लोन होने के साथ ही असुरक्षित लोन भी होता है। इस लोन का इंटरेस्ट रेट अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा होता है।

अधिकांश बैंक अपने कस्टमर को आसानी से पर्सनल लोन दे देते हैं जिसका इस्तेमाल लोन लेने वाला व्यक्ति अपने किसी भी काम को पूरा करने के लिए कर सकता है।

वह काम कोई-सा भी हो सकता है जैसे शादी में खर्च के लिए, किसी का उधार पूरा करने के लिए, जरूरत के सामान को खरीदने के लिए, कहीं घूमने-फिरने आदि में इस लोन के पैसे का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पर्सनल लोन बहुत ही आसानी से मिल जाता है साथ ही इस loan को लेने के लिए ज्यादा दिक्कत नहीं होती है। पर्सनल लोन में इंटरेस्ट रेट बहुत ज्यादा होता है इसलिए पर्सनल लोन तभी लें जब आप को बहुत अधिक जरूरत हो।

Home Loan

हर एक इंसान का सपना होता है कि उसका अपना घर हो लेकिन इस सपने को पूरा कर पाना आसान नहीं होता। बहुत सारे लोग जो अच्छा पैसा भी कमाते हैं लेकिन इस काबिल नहीं होते हैं कि वह घर खरीद सके।

ऐसे लोगों की ख्वाहिशों को पूरा करने में होम लोन एक अहम भूमिका निभाता है। होम लोन की रकम बहुत ज्यादा होती है और इंटरेस्ट के साथ उसे चुकाने में काफी लंबा समय लग जाता है। होम लोन लेने वाले को मासिक इंस्टालमेंट के रूप में 10 से 20 सालों में पूरे पैसे देने होते हैं।

होम लोन मध्यम वर्ग के लोगों के लिए एक मसीहा का काम करता है। एक मिडिल क्लास का व्यक्ति अपने जिंदगी भर की कमाई से भी घर बनाने में असमर्थ रहता है। ऐसे लोगों की ख्वाहिश होती है कि उनका अपना घर हो और उस सपने को वे होम लोन के जरिए पूरा कर सकते हैं।

Education Loan

आज के इस मॉडर्न जमाने में हर मां-बाप की ख्वाहिश होती है कि उसका बच्चा किसी अच्छे स्कूल, कॉलेज और इंस्टिट्यूट में पढ़े ताकि वह एक डॉक्टर, इंजीनियर, आईपीएस ऑफिसर, जज आदि बन सके।

लेकिन इस महंगाई के दौर में अच्छी शिक्षा मिल पाना कम खर्च में आसान नहीं है। अगर आपको अच्छे इंस्टिट्यूट कॉलेज में पढ़ना है तो आपको अच्छे खासे मतलब ज्यादा पैसों की जरूरत पड़ेगी।

ऐसी स्थिति में बैंक आपको एजुकेशन लोन देता है। एजुकेशन लोन आसानी से किसी भी बैंक और नन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी से मिल जाता है यह loan केवल स्टूडेंट्स को उनके आगे की पढ़ाई के लिए दिया जाता है। एजुकेशन लोन का इंटरेस्ट रेट भी काफी कम होता है।

Car Loan

जिस तरह एक घर की ख्वाहिश होती है उसी तरह एक बढ़िया कार की चाहत भी सभी को होती है। लोग कार खरीदना तो चाहते हैं पर पर्याप्त धनराशि जमा नहीं कर पाते जिससे वह एक कार खरीद सके।

ऐसे लोगों की ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए बहुत सारे बैंक कार लोन प्रदान करते हैं। साथ ही कार लोन आसानी से वह भी कम इंटरेस्ट रेट पर मिल जाता है।

बहुत सारे बैंक कार लोन पर अच्छा ऑफर भी देते हैं अगर आप एक साथ रिश्ते नहीं कर पाते हैं तो आप ईएमआई का इस्तेमाल कर सकते हैं जहाँ आप अपने इक्षा अनुसार मार्सिक इंस्टॉलमेंट पर 2 से 4 सालों में loan के अमाउंट हो चुका सकते हैं।

Credit Card Loan

अगर आपने पहले से होम लोन और कार लोन ले लिया है और आपको अभी कुछ और पैसों की जरूरत है तो ऐसी स्थिति में आप क्रेडिट कार्ड लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड लोन क्या होता है इसके बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी होती है। क्रेडिट कार्ड लोन पर्सनल लोन से काफी बढ़िया है क्योंकि यह बहुत ही आसानी से मिल जाता है और इस लोन पर आपको इंटरेस्ट रेट भी काफी कम लगता है।

Business Loan

जब कोई व्यक्ति या कंपनी किसी बिजनेस की शुरुआत करती है तो उसे बिजनेस को खड़ा करने के लिए उसमें बहुत से इन्वेस्टमेंट की जरूरत होती है। ऐसे में कंपनी और उस व्यक्ति को बिजनेस लोन लेना पड़ता है फाइनेंसियल असिस्टेंट के लिए।

भारत सरकार भी नए कारोबार को शुरू करने के लिए बिजनेस लोन देती हैं जहाँ आप 50000 से लेकर दस लाख तक का लोन आसानी से ले सकते हैं। अब आप समझ ही गए होंगे कि कारोबार को शुरू करने के लिए बैंक हमें जो पैसे देता है उसे ही बिजनेस लोन कहा जाता है।

जब आप बैंक से बिजनेस लोन लेने के लिए जाते हैं तो बैंक आपके बिजनेस से रिलेटेड सारी जानकारी ले लेता है साथ ही अगर वह आपके बिजनेस प्लान से संतुष्ट हो जाते हैं कि यह बिगेस्ट मुनाफा देगा और आप सही समय पर उनका पैसा लौटा देंगे ऐसी स्थिति में बैंक आपको loan देने के लिए तैयार हो जाता है।

Gold Loan

आपने अक्सर टीवी पर गोल्ड लोन से रिलेटेड विज्ञापन तो देखे ही होंगे जहाँ आपको यह बताया जाता है कि आप अपने सोने के बदले में लोन ले सकते हैं और loan चूका देने के बाद आपके सोने वापस मिल सकते हैं।

गोल्ड लोन भारत में बहुत तेजी से उभरा है। यहाँ ज्यादातर लोग मध्यम वर्ग के हैं जहाँ सोने के जेवर ओं का चलन ज्यादा होता है। कोई पार्टी हो या फंक्शन औरते सोने से लदे जेवर ही पहना करती हैं शादी में दुल्हन को जेवर ही दिया जाता है।

किसी कारणवश पैसों की जरूरत होने पर लोग अपने सोने को बैंक में जमा कर सकते हैं और प्राप्त धन को वापस कर देने के बाद उन्हें सोना वापस मिल जाता है। बैंक में आपका सोना पूरी तरह से सुरक्षित रहता है।

Property Loan

लोग अपने जीवन को सुखमय बनाने के लिए पैसे कमाते हैं। पैसे को जमा करके वह जमीन खरीदते हैं फिर प्यारा-सा घर बनाते हैं। जेवरात खरीदते हैं, गाड़ियाँ, दुकानें आदि खरीदते हैं। अपनी जिंदगी को बेहतर करने के लिए ना जाने क्या-क्या चीजें खरीदते हैं ऐसा करने से उनके पास बहुत सारी प्रॉपर्टी जमा हो जाती है।

जब मुसीबत आती है तो बोल कर नहीं आती उस समय कोई दोस्त रिश्तेदार काम नहीं आता उन विराम ऐसी स्थिति में प्रॉपर्टी ही काम आती है। तब आप अपने खेत, जमीन, घर कार आदि को गिरवी रख कर बैंक से पैसे लेते हैं इसे ही प्रॉपर्टी लोन कहा जाता है।

बैंक आपके प्रॉपर्टी के मूल्य का अंदाजा लगाकर आपको लोन देता है। प्रॉपर्टी के आधार पर 50 से 70 परसेंट की राशि दी जाती है। जहाँ उस राशि को चुकाने की अवधि 15 वर्ष तक की होती है। अगर आप loan की राशि तय समय अंतराल में चुका देते हैं तो प्रॉपर्टी के डॉक्यूमेंट आपको दे दिए जाते हैं।

लोन के फ़ायदे

Loan हमारे जीवन को आसान कर देता है तो चलिए जानते हैं लोन के क्या-क्या फायदे हैं।

Financial Flexibility

Loan हमें फाइनेंसियल फ्लैक्सिबिलिटी देता है यह हमारे जरूरत के समय काफी मददगार साबित होता है। साथ ही लोन हमें फाइनेंशली सपोर्ट भी करता है जिसके जरिए यह हमारे रोजमर्रा के कार्यों को आसान करने के साथ ही हमारे बजट को आसान बनाता है।

Easy Availability

Lon हमें पराया 48 घंटे के अंदर मिल जाता है बस आपके सारे डॉक्यूमेंट सही और पूरे होने चाहिए लोन हमें बहुत ही आसानी से भी मिल जाता है।

Full Amount Received

आपको जितनी पैसों की जरूरत होती है वह आपके इनकम और फाइनेंसियल स्टेटस के आधार पर मिल जाता है।

Easy Instalment

आप जब loan लेते हैं उस समय आप समय सीमा को चुन सकते हैं कि आप कितने समय के भीतर loan को चुका देंगे। ज्यादातर बैंक आपको 1 वर्ष से 5 वर्ष तक का समय देते हैं।

More Benefits in TAX

भारत सरकार इनकम टैक्स एक्ट ऑफ 161 के अनुसार आपको सभी प्रकार के loan में टैक्स बेनिफिट की सुविधा प्रदान करती है।

Eligibility of Loans

ParticularsSalariedSelf-Employed
Age(Min to Max)23 years से 58 years28 years से 65 years
IncomeRs.25000Min. Turnover Rs.40 lakhs
CIBIL ScoreAbove 750Above 750

Loans Application Documents

Salaried Self-Employed
A Bank AccountA Bank Account
PAN CardPan Card
Aadhar CardAadhar Card
Application form with Photograph Application form with Photograph
Last 6 Months Bank Statements Last 6 Months Bank Statements
Identity and Residence proof Identity and Residence proof
Processing fee chequeProcessing fee cheque
Latest Salary SlipBusiness Proof
Form 16Business Profile and Previous 3 years Income Tax Returns

Loan EMI Calculator क्या है?

लोन ईएमआई कैलकुलेटर एक टूल है जिसका इस्तेमाल loan अमाउंट में चुकाए जाने वाले मार्शिक पेबल अमाउंट और इंटरेस्ट रेट को कैलकुलेट करने के लिए किया जाता है।

ईएमआई कैलकुलेट करने के लिए आपको लोन अमाउंट के साथ-साथ कुछ अन्य वैल्यू को इंटर करना होता है जैसे प्रिंसिपल अमाउंट, टाइम ड्यूरेशन और रेट ऑफ इंटरेस्ट। इन सभी वैल्यू को ऐड करने के बाद आपका मंथली या इयरली पेबल लोन अमाउंट बहुत ही आसानी से निकल जाता है।

Loan कैसे लें।

अक्सर लोगों को दुविधाहोती है कि लोन कैसे ले। किसी भी बैंक से लोन लेना बहुत ही आसान होता है बस आपकी इनकम सोर्स और फाइनेंशियल हिस्ट्री अच्छी होनी चाहिए।

आपको जितनी भी पैसों की जरूरत होती है वह आपके इनकम सोर्स ऑफ फाइनेंसियल हिस्ट्री को देख कर ही दिया जाता है। Loan आप दो तरह से अप्लाई कर सकते हैं पहला ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन

ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आपको अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर से बैंक के साइट पर जाकर उनके बताए हुए स्टेप्स को फॉलो करना होता है।

ऑफलाइन अप्लाई करने के लिए आपको अपने बैंक में जाकर बैंक मैनेजर से कांटेक्ट करना होता है जहाँ वह आपको लोन के सारे प्रोसेस की जानकारी देते हैं।

आशा करता हूँ कि आप को लोन से रिलेटेड सारे इंफॉर्मेशन मिल गए होंगे अगर आपको लोन के बारे में कुछ अन्य जानकारी है तो प्लीज कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

निष्कर्ष

मुझे आशा है कि आपको यह लेख लोन क्या होता है? लोन के बारे में जानकारी ! पसंद आया होगा। मैं हमेशा पाठकों को ऋण के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश करता हूँ ताकि उन्हें इस लेख के बारे में अन्य साइटों या इंटरनेट पर खोजने की आवश्यकता न हो। जिससे उनका समय भी बचेगा और सारी जानकारी एक ही जगह मिल जाएगी।

यदि आपके पास इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप कुछ सुधार देखना चाहते हैं, तो आप नीचे टिप्पणी कर सकते हैं। अगर आपको यह पोस्ट लोन क्या होता है पसंद आया और कुछ सीखा तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, गूगल और ट्विटर आदि पर जरूर शेयर करें।

धन्यवाद

Leave a Comment

x